नज़र निल्को की – तेरी नज़दीक वाली दूरिया

तेरी नज़दीक वाली दूरिया लगती है जैसे गोलिया तेरी हर अदा कुछ ख़ास नहीं पर सहती है हर एक बोलिया उसका बनना और सवरना जैसे हो पानी… Read more “नज़र निल्को की – तेरी नज़दीक वाली दूरिया”

गीत ग़ज़ल हो या हो कविता – एम के पाण्डेय निल्को

गीत ग़ज़ल हो या हो कविता  नज़र है उस पर चोरो की  सेंध लगाये बैठे तैयार  कॉपी पेस्ट को मन बेक़रार  लिखे कोई और, पढ़े कोई और … Read more “गीत ग़ज़ल हो या हो कविता – एम के पाण्डेय निल्को”

तेरी याद मुझे क्यों सताती है

तेरी याद मुझे क्यों सताती है तन्हाई में क्यों रुलाती है जब जब मिलते है हम पता नहीं क्या आखो से वो पिलाती है उसका नशा जैसे… Read more “तेरी याद मुझे क्यों सताती है”

कन्या हत्या सर्वाधिक भारत मे

नवरात्रि के पवन पर्व पर कन्याए जिमाई जाती है ढुढ़ते है घर घर उनको फिर पूजन करी जाती है कन्या हत्या सर्वाधिक भारत मे फिर भी देवी… Read more “कन्या हत्या सर्वाधिक भारत मे”

मनन है अभी छोटा बच्चा – एम के पाण्डेय निल्को

तस्वीर में दिख रहे ये दो चेहरे अपनी कला से जाने जाते है। मनन सूद अपने दिमागी कौशल से लोहा मनवा रहे है तो वही इनके दादा… Read more “मनन है अभी छोटा बच्चा – एम के पाण्डेय निल्को”

23 मार्च 1931 बलिदान दिवस

भारत की शान बढ़ाई है,देकर अपनी कुर्बानी को।है नाम उसी का भगत सिंह,उसकी है नमन जवानी को।। वो है महान माता जिसने,ऐसे सपूत को जन्म दिया।हम याद… Read more “23 मार्च 1931 बलिदान दिवस”

सोच रहा हूँ कोई कविता गाऊँ – एम के पाण्डेय ‘निल्को’

समय पर जब यह समय मिला  उनके लिए ही यह गीत बुना मुलाकात जब उनसे हुई  मानो बंजारे को घर मिला देखा उनको जब आज के दिन… Read more “सोच रहा हूँ कोई कविता गाऊँ – एम के पाण्डेय ‘निल्को’”

VMW Team का होली मिलन समारोह सम्पन्न

आज के इस भागमभाग भरी जिन्दगी में किसी के पास भी समय नहीं है लेकिन पुछो की क्या करते है तो उनका जवाब यही होता है की… Read more “VMW Team का होली मिलन समारोह सम्पन्न”

चेहरे की वो बात – एम के पाण्डेय ‘निल्को’

चेहरे की वो बात अधूरी रह गई थी रात किनारे बैठे थे वे साथ डाले एक दूसरे मे हाथ कह रहे थे सुन रहे थे एक दूसरे… Read more “चेहरे की वो बात – एम के पाण्डेय ‘निल्को’”

Valentine Special – आग लगे इस वेलेंटाइन डे को

क्या रोज डे क्या प्रपोज डे क्या करे प्रॉमिस डे को किसे किस करे किस डे को जब गर्ल फ्रेंड ही नहीं हमारी तो आग लगे इस… Read more “Valentine Special – आग लगे इस वेलेंटाइन डे को”

पलटना

पलटना एक शब्द नहीं इसका एक ही अर्थ नहीं समझ – समझ का अन्तर और जो न समझे वो बंदर कुछ लोग पलटा जाते है धीरे से… Read more “पलटना”

लिखता हूँ बचपन की वो कहानी – एम के पाण्डेय ‘निल्को’

बचपन की वो दुनिया पचपन की उम्र में भी नहीं भूलती क्योंकि जो की थी शरारते वो भी कुछ नहीं कहती ।।   न तो लोग बुरा… Read more “लिखता हूँ बचपन की वो कहानी – एम के पाण्डेय ‘निल्को’”

एम के पाण्डेय ‘निल्को’ की कविता – वो दूरिया बढ़ाते गए

वो दूरिया बढ़ाते गए और कुछ लोग यह देख कर मुस्कुराते गए इस ज़िंदगी के कशमकश में शायद ‘निल्को’ को वो भुलाते गए जब याद दिन वो… Read more “एम के पाण्डेय ‘निल्को’ की कविता – वो दूरिया बढ़ाते गए”

कान्हा ओं कान्हा – एम के पाण्डेय ‘निल्को’

आदरणीय मित्रो ;नमस्कार;मेरी पहली भक्ति रचना  “कान्हा ओं कान्हा” आप सभी को सौंप रहा हूँ । मुझे उम्मीद है कि  मेरी ये छोटी सी कोशिश आप सभी को जरुर पसंद आएँगी,  रचना… Read more “कान्हा ओं कान्हा – एम के पाण्डेय ‘निल्को’”