भारत और महाभारत

*दुर्योधन और राहुल गांधी* –                           दोनों ही अयोग्य होने पर भी सिर्फ राजपरिवार में पैदा होने के कारन शासन पर अपना अधिकार समझते हैं। *भीष्म और आडवाणी*… Read more “भारत और महाभारत”

भावनाएं प्रदर्शित करने के लिए ही होती हैं

भावनाएं प्रदर्शित करने के लिए ही होती हैं इसलिए उन्हें छुपाना नहीं जाहिर करना चाहिए। बिना प्रयास करे हारने से कोशिश करके हारना बेहतर है क्योंकि खामोशी… Read more “भावनाएं प्रदर्शित करने के लिए ही होती हैं”

आईआईटी-सामंजस्यकारी और संतुलित

केंद्रीय इंजीनियरिंग कॉलेजों में दाखिले की साझा एकल परीक्षा और आईआईटी की स्वायत्तता का हल निकल आने से बड़ी दुविधा दूर हो गई है। इसके लिए आम… Read more “आईआईटी-सामंजस्यकारी और संतुलित”

तेरी औकात भी है मेरी तरफ देखने की?

दानदाता ने एक रूपए का सिक्का फेंका तो वह बजाए भिखारी के डिब्बे में गिरने के सड़क पर जा गिरा। भिखारी ने दानदाता को दुआएं देते हुए… Read more “तेरी औकात भी है मेरी तरफ देखने की?”

भ्रष्टाचार को नमस्कार!

भ्रष्टाचार को नमस्कार! नमस्कार इसलिए कि सदाचार ने इसके समक्ष घुटना टेक दिया है। इसी का बोलबाला है। बात शुरू करता हूं, अपने पड़ोस से। पड़ोसी कभी… Read more “भ्रष्टाचार को नमस्कार!”