स्वच्छता अभियान पर दो टूक – ब्रजेश पाण्डेय

सबसे पहले देश के दो महान सपूत बापू और शास्त्री जी को नमन। बापू ने स्वछता के प्रति हमें जगाया तो शास्त्री जी ने जय जवान-जय किसान… Read more “स्वच्छता अभियान पर दो टूक – ब्रजेश पाण्डेय”

एतना घोटाला की बाद भी देश चल रहल बा, इ सब कुछ पुण्यप्रतापी लोग के देन बा।

  मनबोध मास्टर का नेता नाम से ही घिन हो गइल बा। एतना घिन जइसे नेता ना नेटा(पोंटा) होखें। घोटाला पर घोटाला होत देख बोल पड़लें- ‘… Read more “एतना घोटाला की बाद भी देश चल रहल बा, इ सब कुछ पुण्यप्रतापी लोग के देन बा।”

पूर्वांचल/गोरखपुर ( Gorakhpur)

उत्तर प्रदेश  के पूर्वांचल में गोरखपुर, बाबा गोरखनाथ के नाम से सुविख्यात अनेक पुरातात्विक, अध्यात्मिक, सांस्कृतिक एवं प्राकृतिक धरोहरों को समेटे हुए है। मुंशी प्रेमचन्द की कर्मस्थली व फिराक… Read more “पूर्वांचल/गोरखपुर ( Gorakhpur)”

पापा के आज जन्मदिन पर ……….

पूर्वाञ्चल का भोजपुरिया लाल – एन.डी. देहाती   नर्वदेश्वर पाण्डेय (एन.डी. देहाती) पूर्वाञ्चल की धरती पर अनेक ऐसे लाल हुये है जो देश के साहित्यिक  क्षैतिज पर ध्रुवतारे… Read more “पापा के आज जन्मदिन पर ……….”

राहुल कोई भगवान राम नहीं है

 राहुल कोई भगवान्  राम नहीं है . लेकिन गोरखपुर में आये तो आमी के प्र्दुसन से त्रस्त लोगो ने उसी तरह गुहार लगाई  <उतराई नाहीं चाही, पनिए… Read more “राहुल कोई भगवान राम नहीं है”

गोरखपुर …………… और …………………….प्रेमचंद

प्रेमचंद का जन्म ३१ जुलाई १८८० को वाराणसी के निकट लमही गाँव में हुआ था। उनकी माता का नाम आनन्दी देवी था तथा पिता मुंशी अजायबराय लमही… Read more “गोरखपुर …………… और …………………….प्रेमचंद”

राजमंदिर

राजमंदिर जो हर राजस्‍थानी के दिल में सपना बनकर धड़कता है और जिसकी चर्चा के बिना जयुपर यात्रा का वर्णन पूरा हो ही नहीं सकता! थार की… Read more “राजमंदिर”

आने दो रे आने दो, उन्हें इस जीवन में आने दो

कैसी घोर विडंबना है ना जिस देवी को स्मरण कर मुझे पहचाना जाता है, उसे तो घर-घर सादर साग्रह बुलाया जाता है। और मैं उसी का स्वरूप,… Read more “आने दो रे आने दो, उन्हें इस जीवन में आने दो”

सलवार समीज मे पकडे गये स्वामी रामदेव

बाबा रामदेव का सत्याग्रह सरकार के अनुलोम – विलोम  के बाद जंग मे बदल गया . सरकार ने पल्तासन  मारा तो बाबा को गेरुआ  की जगह सलवार समीज (महिला ड्रेस ) पहन कर जान बचना पड़ा .… Read more “सलवार समीज मे पकडे गये स्वामी रामदेव”

भ्रष्टाचार को नमस्कार!

भ्रष्टाचार को नमस्कार! नमस्कार इसलिए कि सदाचार ने इसके समक्ष घुटना टेक दिया है। इसी का बोलबाला है। बात शुरू करता हूं, अपने पड़ोस से। पड़ोसी कभी… Read more “भ्रष्टाचार को नमस्कार!”